આ 10 નેતા છે ભારતમાં સૌથી વધારે ભણેલા-ગણેલા, જાણો કઈ કઈ ડિગ્રી છે..

भारत में लोगो को अक्सर ये शिकायत रहती हैं कि यहाँ पढ़े लिखे लोग राजनीति में नहीं होते हैं. ये बात पूरी तरह से सच नहीं हैं. हाँ कई बार यहाँ आपको कम पढ़े लिखे और क्रिमिनल बेकग्राउंड के लोग भी राजनीति के उच्च पद पर नजर आ जाएंगे लेकिन इनके बीच यहाँ ज्यादा पढ़े लिखे और अधिक डिग्री वाले लोग भी मौजूद हैं. ऐसे में आज हम आपको भारत के सबसे ज्यादा पढ़े लिखे राजनेताओं से मिलाने जा रहे हैं.

ભારતમાં લોકોની મોટાપાયે ફરિયાદ રહેતી હોય છે કે અહિયાં ભણેલા ગણેલા લોકો રાજકારણમાં આવતા નથી.

Ad

मनमोहन सिंह (Manmohan Singh)

मनमोहन सिंह भारत के अभी तक के सबसे ज्यादा पढ़े लिखे प्रधानमंत्री रहे हैं. इन्होने 1960 में Nuffield College-Oxford University से D. Phil की डिग्री प्राप्त की थी. इसके अलावा ये 1957 में St John’s College- University of Cambridge से Economic Tripos भी कर चुके हैं. मनमोहन जी पंजाब यूनिवर्सिटी से बीए इकोनॉमिक्स (1952) और एमए इकोनॉमिक्स (1954) भी कर चुके हैं.

अरुण जेटली (Arun Jaitley)

स्वर्गीय अरुण जेटली वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री रह चुके हैं. वे भारत के सबसे ज्यादा पढ़े लिखे नेताओं में से एक थे. उन्होंने सेंट जेवियर स्कूल, दिल्ली में अपनी पढ़ाई की थी. अपने ग्रेजुएशन के लिए वे न्यू दिल्ली के श्री राम कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स गए थे. यहाँ उन्होंने 1973 में बी.कॉम और कॉमर्स में honours डिग्री ली. इसके अलावा 1977में Faculty of Law, University of Delhi से वे एलएलबी भी कर चुके थे.

शशि थरूर (Shashi Tharoor)

शशि थरूर ने महज 22 वर्ष की उम्र में ही अपनी PhD पूरी कर ली थी. इन्होने अपना ग्रेजुएशन 1975 में Tufts University से The Fletcher School of Law and Diplomacy कॉलेज से किया था. इसके आलवा वे दिल्ली युनिवर्सिटी से बीए भी कर चुके हैं.

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav)

समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव भी बहुत पढ़े लिखे नेता हैं. वे राजस्थान की धोलपुर मिलट्री स्कूल गए थे. उन्होंने Sri Jayachamarajendra College of Engineering से Civil Environmental engineering में बेचलर और मास्टर किया हैं. इसके अलावा वे ऑस्ट्रेलिया के सिडनी यूनीवर्सिटी से Environmental engineering में मास्टर भी कर चुके हैं.

चिदंबरम (Chidambaram)

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री चिदंबरम Harvard Business School से MBA हैं. वे Loyola College, Chennai मास्टर जबकि Madras Law College से कानून में बेचलर डिग्री ले चुके हैं. इसके अलावा उन्होंने चेन्नई के Presidency College से B.Sc Statistics भी किया था.

कपिल सिबल (Kapil Sibal)

पूर्व कानून और न्याय मंत्री कपिल सिबल एलएलएम करने Harvard Law School गए थे. दिल्ली युनिवर्सिटी से इन्होने एमए (इतिहास) और एलएलबी कर रखा हैं.

नजमा हेपतुल्लाह (Najma Heptulla)

बीजेपी की पूर्व वाईस प्रेसिडेंट नजमा Cardiac Anatomy में PhD और विक्रम यूनिवर्सिटी से M.Sc (जूलॉजी) कर चुकी हैं.

सुभ्रमंयम स्वामी (Subramaniam Swamy)

सुभ्रमंयमजी ने Harvard University से इकोनॉमिक्स में पीएचडी की है. वे कोलकाता के Indian Statistical Institute से Statistics में मास्टर भी कर चुके हैं. हिंदू कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी से उन्होंने गणित में मास्टर भी किया हैं.

मनोहर पारिकर (Manohar Parrikar)

स्वर्गीय मनोहर पारिकर बीजेपी लीडर और गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री थे. इन्होने Indian Institute of Technology, Bombay से metallurgical engineering में स्नातक किया था. वे पहले IIT पासआउट थे जो किसी भारतीय राज्य में एमएलए बने थे.

ज्योतिरादित्य माधवराव सिंदिया (Jyotiraditya Madhavrao Scindia)

कांग्रेस नेता और संसद मेंबर ज्योतिरादित्य ने Harvard University से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन किया था. वे Stanford Graduate School of Business से एमबीए भी कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *